मन को नियंत्रित करने का उपाय बताइए – How To Control Your Mind In Hindi

मनुष्य के इंद्रीय अर्थात आंख कान मुंह त्वचा और जीभ होते हैं। इन्हें के गलत स्वभाव के कारण, मनुष्य पाप करने के लिए जिम्मेदार होता है। हमारे मन को कंट्रोल करने के लिए हमारी इंद्रियों को कंट्रोल में रखना बहुत ज्यादा जरूरी है। जब तक हम अपनी इंद्रियों को अपने नियंत्रण में नहीं रखेंगे तब तक हम अपने मन को नियंत्रण में नहीं रख सकते। तब तक हम अपने मन पर विजय प्राप्त नहीं कर सकते हैं।

Advertisement
मन को नियंत्रित कैसे करें How To Control Your Mind In Hindi

मनुष्य को एक दिन में 60000 विचार आते हैं। इसलिए में को शांत करना जरूरी है।

Table of Contents

मनोवैज्ञानिकों के अनुसार एक स्वास्थ्य मनुष्य को प्रत्येक दिन 60000 विचार आते हैं। अर्थात 86400 सेकंड मैं 60000 विचार आते हैं। अर्थात 2 सेकेंड से भी कम समय में एक विचार आता है। इस आंकड़े से अब पता लगा सकते हैं कि मन कितना ज्यादा चंचल है। मन को इस गति को भागने से रोकना लगभग नामुमकिन है,  लेकिन यहां कुछ ऐसे तरीकों का को बताएंगे कि, आप मन को अपने नियंत्रण में रख सकते हैं।

क्या हम अपने मन को सोचने से रोक सकते हैं?

इंसान अपने मन को सोचने से नहीं रोक सकते हैं। जब इंसान शांत बैठा रहता है और किसी एक काम को कर रहा होता है, तब भी वह कुछ ना कुछ सोच रहा होता है। मन को नियंत्रण में रखने का मतलब यह नहीं है कि कुछ ना सोचा जाए बल्की मन को नियंत्रण में रखने का मतलब है, कि किसी एक काम पर फोकस किया जाए और उस काम को करने के लिए अपना 100 परसेंट दिया जाए। किसी प्रकार से मन को संतुलित किया जाए, जिससे मन मनुष्य के नियंत्रण में रहे ना कि मनुष्य को नियंत्रण में रखें।

मन को नियंत्रित कैसे करें How To Control Your Mind In Hindi

मनुष्य का मन हर पल किसी न किसी बात को सोचता ही रहता है। चाहे वह भूतकाल में घटित कोई बुरी घटना हो या फिर अपने वर्तमान समय में चल रहे किसी घटना के बारे में, या फिर फ्यूचर के बारे में सोचता ही रहता है। किस प्रकार वह अपने मन को नियंत्रण में नहीं रह पाता है जिसकी वजह से वह अस्थिर रहता है।

मन किसी प्रकार का मोबाइल डिवाइस नहीं है, कि परेशान करने पर हम उसे बंद कर सकें। जब तक मनुष्य जीवित रहता है तब तक मन कुछ न कुछ सोचता ही रहता है। सोते समय भी वह स्वप्न के रूप में कुछ न कुछ विचार करते रहता है। मतलब कुल मिलाकर देखा जाए तो मन कभी शांत होता ही नहीं है। और मन को शांत भी नहीं किया जा सकता है। मन को केवल नियंत्रण किया जा सकता है तो चलिए इस पोस्ट में हम को बताएंगे कि मन को कैसे नियंत्रण में रखा जाए।

मन को नियंत्रण में रखने के फायदे। मन को कैसे काबू में रखें। (How To Control Your Mind From Unwanted Thoughts)

लक्ष्य पर Focus बना रहता है

जब तक आप अपने मन को नियंत्रण में नहीं कर लेते तब तक आप अपने लक्ष्य से भटकते ही रहेंगे, जब तक आपका मन आपके नियंत्रण नहीं रहेगा, तब तक आप अपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर सकते।

लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करने के बारे में महाभारत में भी एक प्रसिद्ध वाकिया है। धनुर्विद्या सिखाते समय द्रोणाचार्य ने जब भीम, युधिष्ठिर, नकुल, सहदेव, तथा बाकी कौरवों को भी जब यही सवाल पूछा गया कि तम्हे क्या दिख रहा है? तब किसी ने कहा कि मुझे पक्षी दिख रहा है, किसी ने कहा पेड़ दिख रहा है, किसी ने कहा पत्ते दिख रही है, किसी ने इधर तो किसी ने उधर बताया ।

Advertisement

लेकिन जब द्रोणाचार्य ने यही सवाल अर्जुन से पूछा तब अर्जुन ने कहा कि हे गुरु मुझे सिर्फ और सिर्फ पक्षी की आंख ही दिख रही है और कुछ नहीं । इसी तरह से हम सभी को अपने लक्ष्य पर ही ध्यान केंद्रित करना चाहिए, और ऐसा तभी हो सकता है जब हम अपने मन को नियंत्रण में रखें। जब हम अपने मन को नियंत्रण में रखते हैं तब हम अपने ध्यान को अपने लक्ष्य पर केंद्रित कर पाते हैं। और हम विजय प्राप्त करते हैं।

जब तक बीज हवा में इधर-उधर उड़ता रहता है, अर्थात अस्थिर रहता है। तब तक वह पेड़ का रूप धारण नहीं कर सकती। लेकिन जब वह मिट्टी में गड़ कर पेड़ का रूप धारण कर लेती है, तो वह हर एक विशाल बरगद का रूप ले लेती है। अर्थात हमें इधर उधर ध्यान नहीं देना चाहिए। अपने लक्ष्य पर ही केंद्रित रहना चाहिए।

हमारा मन नियंत्रण में रहने से हम सकारात्मक महसूस करते हैं

जब हमारा मन हमारे नियंत्रण में रहते हैं तब तक हम अपने लक्ष्यों को अच्छी तरीके से पूर्ण कर पाते हैं जिसकी वजह से हम सभी कार्यों को जल्दी-जल्दी कर पाते हैं और सारे कार्य को पूर्ण कर लेते हैं जिससे हम सफलता को भी बहुत जल्दी पा लेते हैं और इसी वजह से हम सकारात्मक महसूस करते हैं।

हमारे मन पर नियंत्रण ना होने की वजह से हमें नकारात्मक विचार आते हैं।

इस बारे में हमने पहले भी बात किया है कि जब हमारे मन पर हमारा नियंत्रण नहीं रहता है। तब वह इधर-उधर की बातें सोचने लगती है, कभी सेक्स की बातें सोचती है, तो कभी अपने जीवन के बुरे अनुभव के बारे में सोचती है, अपने बुरे घटनाओं के बारे में सोचती हैं, और ना जाने कितनी सारी नकारात्मक चीजों को सोचती रहती है। और जब हम अपने मन को नियंत्रण कर लेते हैं तब ऐसी नकारात्मक विचार हमें प्रभावित नहीं कर सकती। इसीलिए अपने मन पर नियंत्रण करना बहुत ज्यादा जरूरी है।

मन को नियंत्रित करने का उपाय बताइए – How To Control Your Mind In Hindi

मन को नियंत्रण करने से बुरी आदतों से छुटकारा मिलता है।

जब हम अपने मन को कंट्रोल कर लेते हैं, तब हमें बुरी आदतों से छुटकारा मिलने लगता है। हम अपनी बुरी आदतों को त्यागने लगते हैं। आप स्वयं ही विचार कीजिए क्या यह सत्य नहीं है कि? जब तक आप बुरी चीजों को नहीं सोचेंगे तब तक आप बुरी चीजों को नहीं करेंगे।

लेकिन इसके उलट में जब तक आप बुरी चीजों को सोचते रहेंगे तब तक आप बुरी आदतों को नहीं छोड़ सकते हैं। वह आपका पीछा करते ही रहेंगे। किसी महान व्यक्ति ने कहा है कि “आप जैसे सोचते हैं वैसे बन जाते हैं”। और जब हम अपने मन को नियंत्रण में कर लेते हैं, तब हम अच्छी चीजों को सोचते हैं और अच्छे बनने लगते हैं।

गोरे होने के 5 घरेलू उपाय हिंदी में

गोरे होने के 5 घरेलू नुस्खे

अपने मन को नियंत्रण में रखने के लिए क्या करें (How To Control Your Mind In Hindi)

1) अपने मन को नियंत्रण में रखने के लिए Meditation कीजिए।

मन को नियंत्रित करने का उपाय बताइए – How To Control Your Mind In Hindi

अपने मन को नियंत्रण में करने के लिए मेडिटेशन करना सबसे आसान और सस्ता उपाय है। मेडिटेशन करने से हमारा एक भी रुपया खर्च नहीं होता और हमारा मन नियंत्रण में भी रहता है। मेडिटेशन कोई आजकल का उपाय नहीं है बल्कि हमारे ऋषि-मुनियों द्वारा हमेशा से ही मैडिटेशन किया जाता रहा है। मैं पर्सनली आप को यह सलाह देना चाहूंगा कि मेडिटेशन कीजिए। मेडिटेशन करने से आप हर लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं। मेडिटेशन करने से शरीर और मन दोनों ही स्वस्थ रहते हैं। मन को नियंत्रित करने का यह आसन उपाय है।

Advertisement

मेडिटेशन करना बहुत ही आसान है मेडिटेशन करने के लिए आप सुबह या फिर शाम का समय ले सकते हैं। मेडिटेशन करने के लिए आप किसी ऐसे जगह को चुनिए जहां पर चारों तरफ से हवा और ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में मिल रही हो। मेडिटेशन करने के लिए आपको साधारण पद्मासन, या फिर पालथी मारकर बैठ जाना चाहिए। और अपने मन को भगवान की तरफ केंद्रित करना चाहिए। या फिर किसी एक ही  जगह केंद्रित करना चाहिए, ध्यान रहे वह चीज या वस्तु सांसारिक नहीं होना चाहिए अर्थात अपने इष्ट देव  के बारे में आप सो सकते हैं।

मेडिटेशन के दौरान आप ओंकार शब्द का भी जाप कर सकते हैं। या फिर कपालभाति, या अनुलोम विलोम के दौरान भी आप इस प्रक्रिया को कर सकते हैं।

2)अपने मन को नियंत्रण में रखने के लिए किताबें पढ़िए। (Control Your Mind By Reading Books)

अगर हम किसी भी महान व्यक्ति के बारे में बात करते हैं, चाहे वह स्वामी विवेकानंद, हो या फिर बिल गेट्स, या वारेन बुफेट, या फिर अन्य कोई महान व्यक्ति। इन सभी में एक साधारण सी बात यह थी कि वह सभी बुक पढ़ने में रुचि दिखाते थे।

वह दुनिया के लोगों के संपर्क में कम रहते थे, और पुस्तकों के संपर्क में अधिक रहते थे। अगर हम बात करें इलोन मस्क की तो, बचपन में ही उनके कोई दोस्त नहीं थे। वह अपना अधिकतर समय लाइब्रेरी में गुजारते थे। एलॉन मस्क की मां को जब मस्क घर पर नहीं मिलते थे, तब उनकी मां सीधा लाइब्रेरी में पहुंच जाती थी और लाइब्रेरी में निश्चित रूप से एलोन मस्क मिल जाते थे। परिणाम यह हुआ कि उन्होंने SpaceX  जैसी ग्रेट कंपनियों की स्थापना की। और लोगों को चांद में भेजेंगे तैयारी भी की।

जब कहीं बुद्धिमत्ता और ज्ञान की बातें हो रही हो, तब ऐसे में हम स्वामी विवेकानंद को कैसे भूल सकते हैं? स्वामी विवेकानंद की स्मृति शक्ति बहुत ही तेज थी। स्वामी विवेकानंद पुस्तक पढ़ने इतने आदी थे, कि वे एक ही दिन में 700 पेज की किताब को पढ़ लेते थे।

स्वामी विवेकानंद एक ही दिन में 700 पेज की किताब इसीलिए पढ़ पाते थे, क्योंकि उनका मन एक एकाग्र रहता था, इधर उधर नहीं भटकता था। स्वामी विवेकानंद का मन उनके नियंत्रण में था इसलिए वह ऐसा कर पाते थे।

3)अपने मन को नियंत्रण करने के लिए स्वयं के साथ वक्त गुजारिए। (Control Your Mind By Spend Time With Yourself)

दिन भर में कम से कम 20 मिनट स्वयं के साथ वक्त गुजारना चाहिए। उन 20 मिनट में आप अपने फ्यूचर के बारे में विचार कर सकते हैं, या फिर आप उन सवालों के उत्तर खोज सकते हैं जो आपको परेशान कर रही है। कई सारे ऐसे परेशानियों से हम जूझते रहते हैं जिनका उत्तर हमारे पास ही होता है और हम उनको नहीं तराश पाते हैं। इसीलिए दिन भर में कम से कम 20 मिनट स्वयं को समय देना चाहिए। और उन 20 मिनटों में स्वयं के बारे में सोचना चाहिए। अपने लक्ष्य के बारे में सोचना चाहिए। इस तरह से हम अपने मन को नियंत्रण में कर सकते हैं।

Advertisement

यदि आप अपने लिए और अधिक समय निकाल सकते हैं तो नई चीजों को सीखना शुरू कर दीजिए अपनी क्रिएटिविटी को बढ़ाईए।

4)अपने मन को एक ग्राहक एकाग्र करने के लिए पॉजिटिव एटीट्यूड रखीए।(Positive Attitude Can Make Your Mind In your Control)

मन को नियंत्रित करने का उपाय बताइए – How To Control Your Mind In Hindi Positive Attitude

अपने मन को नियंत्रित करने के लिए पॉजिटिव  एटिट्यूड रखीए। सकारात्मक सोचिए और सकारात्मक लोगों के साथ रहिए।

प्रतीक चीज को 2 तरह से समझा जा सकता है। पॉजिटिव और नेगेटिव पॉजिटिव लोग अपने साथ होने वाले बुरी घटना को भी पॉजिटिव तरीके से देखते हैं। जबकि नेगेटिव लोग का अपने साथ हो रही किसी भी अच्छी चीज को भी नेगेटिव तरीके से देखते हैं। सबके देखने का नजरिया अलग अलग होता है। इसीलिए पॉजिटिव बनीए और पॉजिटिव लोगों के साथ ही रहिए।

पॉजिटिव लोग जब सड़क पर चलते हैं तो इधर-उधर ध्यान नहीं देते हैं। बस अपने काम से काम रखते हैं और अपने साथ घट रही है अच्छी और बुरी घटना को सकारात्मक ढंग से सोचते हैं।

5) मन को शांत रखने के लिए अपनी लक्ष्य पर ध्यान लगाइए(Control Your Mind From Unwanted Thoughts And Focus Your Mind On Your Target

मन को नियंत्रण में रखने का मतलब यह नहीं है, कि मन को कुछ सोचने हीं ना दिया जाए। मन को नियंत्रण में रखने का मतलब है कि, आप जिस चीज को करना चाहते हैं, आपका ध्यान बस उसी चीज पर केंद्रित रहे। इधर उधर ना भटके। इसीलिए अगर आप अपने मन को एकाग्र रखना चाहते हैं, और नियंत्रित में रखना चाहते हैं, तो एक लक्ष्य चुन लीजिए, और उसी लक्ष्य के पीछे भागे।

आपने अपनी गली मोहल्ले में रस्सी पर चलने वाला सर्कस तो जरूर देखा होगा । रस्सी पर चलने वाला पूरा खेल एकाग्रता पर निर्भर करता है। यदि रस्सी पर चलने वाले का मन इधर-उधर डगमगाता है। तो उस व्यक्ति का रस्सी पर से गिरना पक्का है।
इसीलिए रस्सी पर चलने वाला आदमी केवल अपने लक्ष्य को ही देखता है।

परिणाम (Conclusion)

Advertisement

तो दोस्तों इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि अपने मन को कैसे नियंत्रित करें यह पोस्ट आपको कैसा लगा कमेंट के जरिए जरूर बताइएगा। और अपने मन को काबू के लिए आपने इस पोस्ट में बताए गए कितने नियमों का पालन किया है यह जरूर बताइएगा धन्यवाद।

1 thought on “मन को नियंत्रित करने का उपाय बताइए – How To Control Your Mind In Hindi”

Leave a Comment