Categories
Knowledge Capsules Uncategorized

Chanakya Niti In Hindi- चाणक्य नीति के अनुसार इन 7 प्रकार के जीवों को सोते हुए कभी भी नहीं जागना चाहिए।

आपको पता है कि, आचार्य चाणक्य ने चन्द्रगुप्त मौर्य को सम्पूर्ण भारत का सम्राट बनाने का जो निर्णय लिए था उसे उन्होंने पूरा करके ही दम लिया था। आचार्य चाणक्य अर्थशास्त्री होने के साथ ही, एक महान ज्ञानी थे। अतः उन्होंने कई ऐसे श्लोक को लिखा है ,जिसका अनुसरण करके मानव अपनी जिंदगी को सवार सकते है तथा अपने जीवन में सफलता हासिल कर सकता है।

Advertisement
Chanakya niti in hindi

आचार्य चाणक्य के कई श्लोकों में से एक श्लोक है – 

“अही नृपं च शार्दूलं बरटिं बालकं तथा।

परश्वानं च मूर्खं च सप्त सुप्तान्न बोधयेत्।”

इस श्लोक के अनुसार इन 7 प्रकार के जीवों को सोते समय कभी नहीं जागना चाहिए।

राजा – कहते हैं कि रहा को ना तो दोस्ती अच्छी  और ना ही राजा की दूशमनी अच्छी, चाणक्य अनुसार कभी भी राजा को नींद से नहीं जागना चाहिए क्योंकि अगर राजा को गुस्सा आ गया तो आपकी मृत्यु निश्चित है।

सांप – सांप को जगाने से तात्पर्य है कि जब साप स्थिर अवस्था में हो तो कभी भी उसे छेड़ना नहीं चाहिए नहीं वह आपको हानि पहुंचा सकता है।

Advertisement

बालक – बालको के बारे में तो यह बात शत प्रतिशत सही ही है कि यदि सोते हुए बालक को आप जग देते हैं तो वह आपको रो रो कर परेशान ही कर देगा, इसलिए सोते हुए बालक को कभी नहीं जागते।

मूर्ख व्यक्ति – सोते। मेया जागते में भी मूर्ख व्यक्ति को कभी भी छेड़ना नहीं चाहिए क्योंकि मूर्ख व्यक्ति के आस पास रहने मात्रा से ही आपको नुकसान तथा मान हानि को झेलना पड़ सकता है।

शेर – शेर के बारे में तो बिल्कुल भी बताने की जरूरत नहीं है कि यदि आप सोते हुए शेर को जगा देते हैं तो आपका क्या होगा, अगर आप सोते हुए शेर को जगा देते हैं है तो निश्चित रूप से आपकी मृत्यु आपकी राह देख रही होगी।

पशु – पशूओ को कभी भी सोते समय नहीं जागना चाहिए क्योंकि उन्हें क्रोध आ सकता है और आप बंदरों को छेड़ने का नतीजा तो जानते या सुने ही होंगे या कुत्ते को छेड़ने का नतीजा तो आपको पता ही होगा बताने कि जरूरत नहीं है, आखिर हर किसिंका जीवन में काम से कम एक बार कुत्ते से जरूर पाला पड़ा होगा। 

बिच्छू – बिच्छू को यदि गलती से भी हाथ लगा देते थे है तो उसका डंक मारना तो आम बात है अतः बिच्छू से दूर ही रहना चाहिए चाहे बिच्छू सोया हो या जागृत अवस्था में हो।

अतः चाणक्य के अनुसार इन जीवों को कभी भी परेशान नहीं करना चाहिए अन्यथा आप मुसीबत में पड़ सकते हैं। ये थी महान ज्ञानी चाणक्य की गया कि बाते जिन्हें आप अपना कर अपने जीवन में सफलता हासिल कर सकते हैं।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *